monthly_panchang

lakshmi panchami

panchang

LAKSHMI PANCHAMI

Read in English 

चैत्र शुक्ल पक्ष के दौरान पंचमी तिथि को कल्पदी तिथियों के रूप में भी जाना जाता है और यह एक कल्प की शुरुआत करता है। यह दिन भारत के कई हिस्सों में लक्ष्मी पंचमी रूप में लोकप्रिय रूप से मनाया जाता है। इस हिंदू त्योहार को श्री पंचमी या श्री व्रत के रूप में भी जाना जाता है और यह धन व समृद्धि की देवी मां लक्ष्मी को समर्पित है।

देवी लक्ष्मी का आशीर्वाद लेने के लिए इस दिन सख्त उपवास किया जाता है। यह माना जाता है कि माता लक्ष्मी अपने भक्तों को धन और समृद्धि का आशीर्वाद देती हैं जो इस दिन उनकी पूजा करते हैं। लक्ष्मी पंचमी हिन्दू नव वर्ष की शुरुआत के दौरान आती है और इस दिन इसे पूजा करने के लिए अत्यधिक शुभ माना जाता है।

See Also : Mata Laxmi Mantra

लोग, चाहे घर पर या आफिस में, देवी लक्ष्मी की अत्यधिक भक्ति के साथ पूजा करें और इस दिन उपवास करें। कुछ व्यापारिक घरानों और व्यापारियों द्वारा इस दिन एक व्यापक पूजा और आयोजन आयोजित किया जाता है।

See Also: Skanda Sashti 2018 Date & Puja Vidhi – (Fifth day of Chaitra Navratri)

लक्ष्मी पंचमी को वसंत पंचमी से भ्रमित नहीं होना चाहिए। इसे श्री पंचमी के रूप में जाना जाता है क्योंकि यह ज्ञान और शिक्षा की देवी माता सरस्वती से संबंधित है।

लक्ष्मी पंचमी 2018 तिथियां

हिंदू कैलेंडर के अनुसार, 2018 लक्ष्मी पंचमी को मनाया जाएगा

21 मार्च 2018

लक्ष्मी पंचमी - रीति-रिवाज और समारोह

लक्ष्मी पंचमी पूजा

लक्ष्मी पंचमी के दिन लक्ष्मी पूजा बहुत ही भक्ति व भक्ति के साथ की जाती है, भक्त धन और समृद्धि के लिए देवी लक्ष्मी की पूजा और प्रार्थना करते हैं।

See Also: Laxmi mata ji ki aarti in hindi

सबसे पहले, भक्तों को सुबह जल्दी उठना व नहाना चाहिए, देवी लक्ष्मी की प्रार्थना करना और लक्ष्मी पंचमी का व्रत शुरू करना चाहिए।

मां लक्ष्मी की मूर्ति को एक उंचें स्थान पर रखा जाता है और पंचामृत से साफ किया जाता है।

फिर, देवी लक्ष्मी की प्रार्थना करने व उन्हें प्रसन्न करने के लिए फूल, केले के पत्ते, चंदन, सुपारी, लाल धागा, चावल, नारियल और दूर्व का प्रसाद अर्पण किया जाता है।

श्रद्धालु जो सख्त लक्ष्मी पंचमी व्रत का पालन करते हैं और तीव्र निष्ठा व भक्ति के साथ पूजा करते हैं, वह धन, सुख, सफलता और समृद्धि का आशीर्वाद पाते हैं।

LAKSHMI PANCHAMI 2018

Panchami tithi during Chaitra Shukla Paksha is also known as Kalpadi Tithi and it marks the beginning of one Kalpa. This day is popularly celebrated as Lakshmi Panchami in many parts of India. This Hindu festival is also known as Shri Panchami or Shri Vrata and is dedicated to Maa Lakshmi, Goddess of wealth and prosperity.

Lakshmi Panchami 2018 Date

According to Hindu Calendar, Lakshmi Panchami 2018 will be celebrated on

21st March 2018

Lakshmi Panchami - Rituals And Celebrations

Devotees observe strict fast on this day to seek the blessings of Goddess Lakshmi. It is believed that Maa Lakshmi bestows her devotees with wealth and prosperity who worship her on this day. Lakshmi Panchami falls during the beginning of Hindu New Year and it is considered highly auspicious to worship her on this day. People, whether at home or at office, worship Goddess Lakshmi with utmost devotion and observe a day long Lakshmi Panchami Vrat. Some business houses and traders hold an extensive Puja and celebration on this day.

Lakshmi Panchami should not be confused with Vasant Panchami as this day is also referred to as Shri Panchami owing to its association with Maa Saraswati, Goddess of wisdom and learning.  

Lakshmi Panchami Puja

Laxmi Puja on Lakshmi Panchami is done with sincere devotion as devotees worship Goddess Laxmi and pray for wealth and prosperity.

  • First and foremost, the devotees should wake up early in the morning, take shower, offer their prayers to Goddess Lakshmi and begin their Lakshmi Panchami Vrat.

  • The idol of Maa Lakshmi is placed on a platform and cleaned with Panchamrit.

  • Then, offerings of flowers, banana leaves, sandalwood, supari, red thread, rice, coconut and durva are made to pray to Goddess Laxmi and please her.

The devotees who follow a stringent Lakshmi Panchami Vrat and perform this Puja with ardent sincerity and devotion are believed to be blessed with wealth, happiness, success and prosperity.

flower