monthly_panchang

ram navami

panchang

RAM NAVAMI

Read in English

Ram Navami 2018 Date, Time Puja Vidhi (eight day of Chaitra Navratri)

राम नवमी सबसे बड़े हिंदू त्योहारों में से एक है, जो भगवान राम के भक्तों के लिए बहुत महत्व रखता है। भगवान राम भगवान विष्णु का अवतार हैं और इस दिन वह इस धरती पर अयोध्या राजा, दशरथ और उनकी रानी कौशल्या के पुत्र के रूप में अवतार हुऐ थे। भगवान राम का जन्म चैत्र महीने के शुक्ल पक्ष के दौरान नवमी तिथी हुआ था और यही कारण है कि इस दिन को आनंद और उत्साह के साथ भगवान राम के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। राम नवमी त्यौहार चैत्र नवरात्रि उत्सव के अंतिम दिन को भी चिह्नित करता है।

राम नवमी 2018 तिथि और समय

हिंदू कैलेंडर और भारतीय कैलेंडर के अनुसार, 2019 राम नवमी को मनाया जाएगा

रविवार, 25 मार्च 2018

राम नवमी पूजा मुहूर्त

मध्याह्न चरण - 11:32 पूर्वाह्न से 1:57 अपराह्न

राम नवमी मध्याह्न - 12:44 अपराह्न

राम नवमी 2018 - रीति-रिवाज

भगवान राम का जन्म मध्याह्न के दौरान हुआ, अर्थात हिंदू दिवस के मध्य में। यह अवधि 2 घंटे और 24 मिनट तक रहती है और इस चरण के दौरान राम नवमी से संबंधित सभी पूजा प्रथाओं को करना चाहिए।

See Also: Navratri Parana 2018 Date, Time Puja Vidhi (Ninth day of Navratri)

इस दिन मध्याह्न पूजा को सबसे शुभ माना जाता है।

मध्याह्न काल का मध्य बिंदु समय था जब भगवान राम का जन्म हुआ। इस विशेष समय के दौरान राम मंदिरों में उत्सव अपने शिखर तक पहुंचते हैं।

See Also: Rashifal in Hindi

कई परंपराएं हैं जो राम नवमी के साथ जुड़ी हैं कुछ लोग भगवान राम का आशीर्वाद पाने के लिए दिन भर उपवास रखते हैं। इस दिन आठ प्रहर व्रत को पसंद करते हैं, अर्थात् भक्तों को इस व्रत को सूर्योदय से अगले दिन तक सूर्योदय तक रखना चाहिए।

See Also: Aaj Ka Rashifal

राम नवमी के दौरान उपवास तीन अलग-अलग तरीकों से मनाया जा सकता है। आकस्मिक जो किसी भी इच्छा के बिना किया जा सकता हैः इसे नैमितिक कहा जाता है, जो बिना किसी इच्छा के पूरे जीवन में मनाया जा सकता हः यह नित्य और वांछनीय के रूप में जाना जाता है जब कोई किसी इच्छा को पूरा करना चाहता हैः इसे काम्या के रूप में जाना जाता है।

See Also: सभी व्रत एवं उपवास की पूरी लिस्ट दिनांक के साथ 

पंडाल कार्यक्रम और राम मंदिरों में भजन और पठण भी कुछ नियमित कार्यक्रम हैं जो पूरे दिन में होते हैं। यह एक रंगीन और धार्मिक उत्सव है जो कि भगवान राम के सभी भक्तों में सबसे अधिक प्रतीक्षित है।

Ram Navami is one of the biggest Hindu festivals that holds much reverence for devotees of Lord Rama. Lord Ram is the avatar of Lord Vishnu and it was on this day he descended on this earth as son to Ayodhya king, Dasaratha and his queen Kaushalya.

See Also: Astrology, Horoscope, Zodiac Signs

Lord Ram was born during Shukla Paksha on Navami tithi in the month of Chaitra and this is why this day is celebrated with happiness and fervor as Lord Rama’s birthday. Rama Navami festival also marks the last day of Chaitra Navratri festivities.

RAM NAVAMI 2018 DATE AND TIME

According to Hindu Calendar and Indian calendar, Rama Navami 2018 will be celebrated on

Sunday, 25th March 2018

Rama Navami Puja Muhurat

Madhyahna Phase  - 11:32 AM to 1:57 PM

Rama Navami Madhyahna  - 12:44 PM

RAM NAVAMI 2018 - RITUALS

The birth of Lord Rama took place during the Madhyahna i.e. the mid of a Hindu day. This period lasts for 2 hours and 24 minutes and it is during this phase should one perform all the Puja rituals related to Rama Navami.

See Also: Sun Sign, Moon Sign

Madhyahna Puja on this day is considered to be the most auspicious. The middle point of Madhyana period is the exact moment when Lord Rama is born. The celebrations in Rama temples reach their peak during this particular time.    

See Also: Indian Calendar, Festivals

There are several traditions that are associated with Rama Navami. Some people observe day long fasts to seek blessings of Lord Rama. Eight Prahar Vrat is preferred on this day, i.e. devotees should keep this fast from sunrise till next day’s sunrise.

Fasting during Rama Navami can be observed in three different ways. Casual which can be done without any desire; it is termed as Naimittika, continual which can be observed throughout life without any desire; it is known as Nitya and Desirable which is observed when one wants to fulfill any desire; it is known as Kamya.   

Pandal programs and bhajans and recitals in Rama temples are also some regular occurrences that take place throughout the day. It is a colorful and religious celebrations that is most awaited by all the ardent devotees of Lord Rama.

hindi
english
flower