Rashifal राशिफल
Raj Yog राज योग
Yearly Horoscope 2022
Janam Kundali कुंडली
Kundali Matching मिलान
Tarot Reading टैरो
Personalized Predictions भविष्यवाणियाँ
Today Choghadiya चौघडिया
Anushthan अनुष्ठान
Rahu Kaal राहु कालम

Lord Ganesha | भगवान श्री गणेश जी के बारे में

know about lord ganesha

Updated Date : मंगलवार, 24 अगस्त, 2021 08:49 पूर्वाह्न

भगवान गणेश हिंदू धर्म में सबसे लोकप्रिय और पूज्य देवताओं में से एक हैं। वह ज्ञान, भाग्य और समृद्धि के स्वामी हैं। हर शुभ कार्य भगवान श्री गणेश की पूजा के बाद शुरू होता है। भक्त भगवान श्री गणेश जी को गणपति, विघ्नहर्ता, विनायक और एकदंत जैसे विभिन्न नामों से जानते हैं।

यहाँ देखे।  हैप्पी गणेश चतुर्थी 2021: जाने कब है गणेश चतुर्थी, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि

भगवान गणेश के बारे में

परिवार

भगवान गणेश की माता का नाम देवी पार्वती और उनके पिता भगवान शिव हैं। शिव पुराण के अनुसार, Lord Ganesha का विवाह भगवान ब्रह्मा की बेटियों रिद्धि और सिद्धि से हुआ था। उनके दो बेटे थे जिनका नाम शुभ और लाभ है। रिद्धि, सिद्धि, शुभ और लाभ क्रमशः समृद्धि, आध्यात्मिकता, शुभता और लाभ का प्रतीक हैं।

यहाँ देखे। श्री गणेश आरती  गणेश पूजा के लिए । 

वेशभूषा

हिंदू भगवान गणेशजी को आमतौर पर एक हाथी मुख के साथ एक देवता के रूप में चित्रित किया जाता है, बड़े पेट वाली मानव काया, दो बड़े कान और एक सूंड। सिर आत्मा का प्रतीक है, मानव शरीर सांसारिक अस्तित्व को दर्शाता है, हाथी मुख ज्ञान का प्रतीक है और सूंड ओम, सर्वोच्च ध्वनि को दर्शाता है।

यहाँ देखे। श्री लक्ष्मी-गणेश मंत्र

भगवान श्री गणेश की मूर्ति के चार हाथ होते हैं। अपने ऊपरी दाहिने हाथ में, वह भक्त के जीवन से सभी बाधाओं को दूर करने के लिए छड़ी धारण करते हैं। बाएं हाथ एक कमंद, जो सभी कठिनाइयों को दूर करता है। श्री गणेश जी का निचला दायाँ हाथ अभय मुद्रा में होता है जो विजय प्राप्ति का आशीर्वाद देता है और नीचे का बायाँ हाथ मोदकों(लड्डूओं) से भरा हुआ होता है, जो सुख और समृद्धि को दर्शाता है। भगवान श्री गणेश की सवारी मूषक(चूहा) है।

यहाँ देखे । गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएं, भेज आपनो को गणेश चतुर्थी की बधाई 

भगवान गणेशजी के जन्म की कहानी

हिंदू शास्त्रों के अनुसार, भगवान गणेश का जन्म इतिहास की उस घटना से मिलता है जब देवी पार्वती अपने निवास स्थान कैलाश पर्वत पर स्नान की तैयारी कर रही थीं। उन्होनें अपने शरीर की मैल से एक लड़के की मूर्ति बनाई और उसमें प्राण डाल दिए। उन्होनें अपने बेटे के रूप में उस बालक का नाम गणेश रखा और उसे द्वार की रखवाली करने का निर्देश दिया। माता पार्वती ने उससे कहा कि वह उसकी अनुमति के बिना किसी को परिसर में प्रवेश न करने दे। जब भगवान शिव ध्यान से वापस लौटे, तो भगवान गणेश ने भगवान शिव को घर में प्रवेश करने से मना कर दिया। इस अवहेलना पर क्रोधित, भगवान शिव ने नंदी और उनके अनुयायियों को उस बालक को सबक सिखाने का आदेश दिया। हालाँकि, श्री गणेश जी ने सभी को हरा दिया। यह सब देखकर वह क्रोधित हो गए और भगवान शिव ने गणेशजी का सिर काट दिया। जब पार्वती को इस घटना के बारे में पता चला, तो वह बहुत दुखी हुई और भगवान शिव से अपने पुत्र, भगवान गणेश को फिर से जीवित करने की मांग की। देवी पार्वती को शांत करने के लिए, भगवान शिव ने भगवान ब्रह्मा को उत्तर दिशा की ओर मुंह करके सोऐ हुए प्राणी को लाने का आदेश दिया। भगवान ब्रह्मा ने एक सोते हुए हाथी के बच्चे को देखा और उसके सिर को काटकर ले आऐ। भगवान शिव ने हाथी के सिर को भगवान श्री गणेश की धड़ से जोड़ दिया और उनमें फिर से प्राण डाल दिए। भगवान शिव ने उन्हें अपने सैनिकों का सेनापति बना दिया और उनका नाम ‘गणपति’ रखा। साथ ही, भगवान शिव ने वरदान दिया कि किसी भी शुभ कार्य या किसी भी देवता की पूजा से पहले गणेश भगवान की पूजा की जाएगी।

यहाँ देखे | Happy Ganesh Chaturthi 2021 Images : गणेश चतुर्थी चित्र, ग्रीटिंग्स, फोटो, वॉलपेपर

हिंदू भगवान गणेशजी का महत्वपूर्ण त्योहार

भगवान गणेश को समर्पित मुख्य और महत्वपूर्ण त्योहार गणेश चतुर्थी है जो श्री गणेश जी की जयंती का प्रतीक है। यह त्यौहार 10 दिनों तक बड़े उत्साह और भक्ति के साथ मनाया जाता है।

सामान्य प्रश्न भगवान गणेश जी के बारे

1. भगवान गणेश जी की पसंदीदा मिठाई क्या है?

भगवान श्री गणेश का पसंदीदा भोजन मोदक(लड्डू) है।

2. भगवान गणेश को कौन सा फूल पसंद है?

भगवान गणेश को मैरीगोल्ड(गेंदा) और लाल रंग के सभी फूल पसंद हैं। लाल गेंदे का उपयोग श्री गणेश जी को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है।

3. सप्ताह का कौन सा दिन गणेश दिवस होता है?

बुधवार को भगवान गणेश का दिन माना जाता है। बुधवार के दिन भगवान श्री गणेशजी की पूजा करना शुभ स्वास्थ्य, सुख, समृद्धि, ज्ञान और शुभता प्रदान करता है।

4. भगवान श्री गणेश जी का पसंदीदा रंग कौन सा है?

भगवान गणेश का पसंदीदा रंग पीला और हरा है।

5. भगवान गणेश जी को कैसे प्रसन्न करें?

  • बुधवार के दिन भगवान गणेश जी की पूजा करें और दीप जलाएं।
  • भगवान गणेश को मोदक(लड्डू) और गेंदे के फूल चढ़ाएं।
  • श्री गणेश पूजा में लाल वस्त्र, लाल फूल और चंदन चढ़ाएं।
  • भगवान गणेश मंत्र का जाप करेंः

“वक्रतुंड महाकाय सूर्य कोटि सम प्रभः

निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्व कार्येषु सर्वदा”

यहाँ पढ़े | दर्शन कीजिए भारत के 5 प्रसिद्ध गणेश मंदिरों के इसे गणेश चतुर्थी ।

ज्योतिषी से बात करें

वैवाहिक संघर्ष, प्रेम संबंध समस्या। कॉल पर गुना मिलान और रिलेशनशिप परामर्श।

Love

नौकरी में संतुष्टि की कमी, करियर की समस्याएं? करियर और सफलता के लिए ज्योतिषी से सलाह लें।

Career

धन की कमी, विकास और व्यावसायिक समस्याएं? कॉल पर ज्योतिषी द्वारा उपाय और समाधान प्राप्त करें।

Finance

सटीकता और संतुष्टि की गारंटी


Leave a Comment

hindi
english