पूर्णिमा व्रत

date  2019
Ashburn, Virginia, United States X

Switch to Amanta
पूर्णिमा व्रत

2019

Ashburn, Virginia, United States

प्रसिद्ध ज्योतिषियों द्वारा अपनी कुंडली रिपोर्ट प्राप्त करें $ 9/-

अत्यधिक उपयुक्त

पूर्ण कुंडली रिपोर्ट प्राप्त करें


वार्षिक राशिफल 2019

जानें कि आपके लिए 2019 कैसा है

Yearly horoscope

पूर्णिमा व गुरू पूर्णिमा

हिन्दू कैलेंडर के अनुसार पूरा चन्द्रमा दिखाई देने वाला दिन पूर्णिमा कहलाता है। हिन्दू कैलेंडर में इसी दिन पूर्णिमांता महीना खत्म होता है। पूर्णिमा बहुतायत एवं समृद्वि का प्रतीक है। चन्द्रमा की स्थिति के हिसाब से इसे पौर्णिमी, पुरणमासी एवं पूर्णिमा भी कहा जाता है।

पूर्णिमा, आने वाली पूर्णिमा एवं चन्द्रमा के चक्र की सम्पूर्ण जानकारी mPanchang पर उपलब्ध है।

पूर्णिमा का महत्व

  • हिन्दू कैलेंडर में प्रत्येक पूर्णिका का कुछ महत्व है। इसलिए बारह महीनों में प्रत्येक पूर्णिमा पर अवसर एवं त्यौहार मनाऐ जाते हैं।
  • पूर्णिमा के दिन आसमान में पूरा चन्द्रमा दिखाई देता है जो कि अंधेरे को खत्म करने का प्रतीक है।
  • इस दिन विशेष रूप से भगवान सत्यनारायण की पूजा की जाती है।
  • बहुत से भगवान ने इस दिन मानव अवतार लिया था।

साल 2019 के लिए पूर्णिमा व्रत की सूची

अलग-अलग महीनों में पूर्णिमा के दिन आने वाले त्यौहार

पौष पूर्णिमा:

पौष पूर्णिमा हिन्दू कैलेंडर में महत्वपूर्ण दिन है। अंग्रेजी कैलेंडर के हिसाब से यह दिसंबर-जनवरी के महीने में आती है। इस दिन श्रद्वालू प्रयाग संगम (यमुना, गंगा, सरस्वती) पर डुबकी लगाते हैं। और ऐसी मान्यता है कि ऐसा करने से व्यक्ति अपने सभी पापों से मुक्ति पाकर मोक्ष को प्राप्त कर लेता है।

माघी पूर्णिमा:

माघी पूर्णिमा जिसे माघ पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। यह माघ महीने के पूरे चन्द्रमा के दिन होती है। इस समय के दौरान शुभ कुंभ मेला बारह वर्ष के बाद आयोजित किया जाता है।

होली:

होली हिन्दी महीने फाल्गुन में आती है जो कि वसंत ऋतु के आगमन का प्रतीक है। इसे रंगों को त्यौहार भी कहा जाता है एवं इसे दो दिन तक मनाया जाता है। यह त्यौहार भारत एवं नेपाल के ज्यादातर हिस्सों में मनाया जाता है। होलिका दहन रंगवाली होली से पहली रात को किया जाता है।

हनुमान जयंती:

हनुमान जयंती चैत्र महीने में आने वाली पूर्णिमा के दिन मनाई जाती है। इस दिन को (हनुमान जी जो कि वानरों के भगवान एवं श्रीराम भक्त हैं) के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है।

बुद्व पूर्णिमा:

वैशाख महीने की पूर्णिमा को भगवान गौतम बुद्व के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है जिनका बचपन का नाम सिद्वार्थ गौतम था । जो कि एक आध्यात्मिक गुरू थे जिन्होनें बौद्व धर्म की स्थापना की । यह पूरे भारत सहित नेपाल एवं कुछ दक्षिण-पूर्वी एशियाई देशों में भी मनाया जाता है।

वट पूर्णिमा:

यह एक बहुत ही शुभ हिन्दू तिथि है इसे ज्येष्ठ पूर्णिमा भी कहा जाता है। इसे ज्येष्ठ महीने के पूरा चन्द्रमा दिखाई देने वाले दिन मनाया जाता है। यह व्रत मुख्य रूप से विवाहित महिलाओं द्वारा अपने पति की लम्बी उम्र एवं सुखी विवाहित जीवन की कामना के लिए किया जाता है।

आषाढ़ पूर्णिमा:

यह पूर्णिमा गुरूओं को समर्पित है। इस दिन रथ यात्रा का आयोजन किया जाता है।

रक्षाबंधन:

रक्षाबंधन श्रावण महीने में मनाई जाती है। रक्षाबंधन का त्यौहार मुख्य रूप से अपने भाई के लिए बहन के प्यार एवं स्नेह को दर्शाता है।

मधु पूर्णिमा:

मधु पूर्णिमा हिन्दू महीने भाद्रपद में मुख्य रूप से बांग्लादेश के चटगांव एवं थाईलैंड के सोम लोगों द्वारा मनाया जाता है।

पूर्णिमा पूजा एवं व्रत विधि:

  • इस दिन श्रद्धालू सुबह जल्दी उठकर सूर्योदय से पहले पवित्र जल से स्नान करते हैं।
  • इस दिन भगवान शिव व विष्णु की पूजा की जाती है।
  • श्रद्धालू इस दिन उपवास रखते हैं। पूरा दिन बिना कुछ खाऐ-पीऐ उपवास किया जाता है।
  • उपवास सूर्योदय से प्रारंभ होकर चन्द्र दर्शन पर पूर्ण होता है।
hindi
english