Rashifal राशिफल
Raj Yog राज योग
Yearly Horoscope 2021
Janam Kundali कुंडली
Kundali Matching मिलान
Tarot Reading टैरो
Personalized Predictions भविष्यवाणियाँ
Today Choghadiya चौघडिया
Anushthan अनुष्ठान
Rahu Kaal राहु कालम

गुरू वक्री

date  2021
,,

जब गुरू वक्री होता है तो यह वक्री क्षेत्र में आ जाता है व धीरे होना प्रारंभ हो जाता है। यह स्थिर होने से पहले पीछे की तरफ चलना प्रारंभ हो जाता है व मंद गति से आगे की दिशा में बढ़ता है। जैसा की ज्ञात है गुरू पिछे की दिशा में आगे बढ़ने से पहले कुछ समय के लिए स्थिर रहता है। गुरू जब पिछे की दिशा में बढ़ता है तो यह समय महत्वपूर्ण होता है जो कि गणना के लिए उल्लेखित किया जाता है।

गुरू वक्री

2021 गुरू वक्री गति

गुरू वक्री प्रारम्भ

जून 20, 2021, (रविवार) 20:45

गुरू प्रगतिशील प्रारम्भ

अक्तूबर 18, 2021, (सोमवार) 10:48
कुल वक्री दिन = 119 दिन

जब गुरू प्रगतिशील होता है तो यह आगे की दिशा में बढ़ना प्रारंभ कर देता है। जब तक यह पूरी गति हासिल नहीं कर लेता यह वक्री क्षेत्र में ही रहता है। जब गुरू आगे की दिशा में बढ़ना प्रारंभ होता है तो यह समय महत्वपूर्ण होता है व गणना के लिए उल्लेखित किया जाता है।

सभी वक्री क्षेत्रों में मुख्य चार स्थान होते हैं: पूर्व स्थान, छाया, दिशा स्थान व निवारण ।

hindi
english