गुरू वक्री

date  2017
Ashburn,Virginia,United States

जब गुरू वक्री होता है तो यह वक्री क्षेत्र में आ जाता है व धीरे होना प्रारंभ हो जाता है। यह स्थिर होने से पहले पीछे की तरफ चलना प्रारंभ हो जाता है व मंद गति से आगे की दिशा में बढ़ता है। जैसा की ज्ञात है गुरू पिछे की दिशा में आगे बढ़ने से पहले कुछ समय के लिए स्थिर रहता है। गुरू जब पिछे की दिशा में बढ़ता है तो यह समय महत्वपूर्ण होता है जो कि गणना के लिए उल्लेखित किया जाता है।

गुरू वक्री

2017 गुरू वक्री गति

गुरू वक्री प्रारम्भ

फरवरी 06, 2017, (सोमवार) 01:45

गुरू प्रगतिशील प्रारम्भ

जून 09, 2017, (शुक्रवार) 10:13
कुल वक्री दिन = 123 दिन

जब गुरू प्रगतिशील होता है तो यह आगे की दिशा में बढ़ना प्रारंभ कर देता है। जब तक यह पूरी गति हासिल नहीं कर लेता यह वक्री क्षेत्र में ही रहता है। जब गुरू आगे की दिशा में बढ़ना प्रारंभ होता है तो यह समय महत्वपूर्ण होता है व गणना के लिए उल्लेखित किया जाता है।

सभी वक्री क्षेत्रों में मुख्य चार स्थान होते हैं: पूर्व स्थान, छाया, दिशा स्थान व निवारण ।

hindi
english