Rashifal राशिफल
Yearly Horoscope 2020
Janam Kundali कुंडली
Kundali Matching मिलान
Tarot Reading टैरो
Personalized Predictions भविष्यवाणियाँ
Today Choghadiya चौघडिया
Anushthan अनुष्ठान
Rahu Kaal राहु कालम

गौरी पंचांग - 24 जनवरी, 2020

date  0
Ashburn, Virginia, United States

दिन का गौरी पंचांग

  • 07:27 - 08:40
    panchang
    सुगम
    08:40 - 09:54
    panchang
    सोरम
    09:54 - 11:07
    panchang
    उठी
    11:07 - 12:21
    panchang
    विषम
    12:21 - 13:35
    panchang
    अमिरधा
    13:35 - 14:48
    panchang
    रोगं
    14:48 - 16:02
    panchang
    लाबम
    16:02 - 17:15
    panchang
    धनं

रात का गौरी पंचांग

  • 17:15 - 19:02
    panchang
    रोगं
    19:02 - 20:48
    panchang
    लाबम
    20:48 - 22:34
    panchang
    धनं
    22:34 - 24:21
    panchang
    सुगम
    24:21 - 26:07
    panchang
    सोरम
    26:07 - 27:53
    panchang
    उठी
    27:53 - 29:40
    panchang
    विषम
    29:40 - 31:26
    panchang
    अमिरधा

राहु काल में शुभ कार्य पूर्णतः वर्जित हैं। आज का राहु काल, शुरुआत और अंत का सही समय और इससे बचने के उपाय देखें।

  • ज्योतिषी से पूछें

    *अपनी प्रमुख चिंता बताइए

  • सीधा व स्पष्ट प्रश्न पूछें और अपना उत्तर प्राप्त करें।
  • एक बार में केवल एक ही प्रश्न पूछेंः कई प्रश्नों के मामले में केवल पहले प्रश्न पर विचार किया जाएगा।

विंडोज के लिए मुफ्त कुंडली सॉफ्टवेयर

mPanchang विंडोज के लिए एक मुफ्त जन्म कुंडली विश्लेषण सॉफ्टवेयर प्रदान करता है। अब, आप ज्योतिष की दुनिया का पता लगाने के लिए इस जन्म कुंडली आनलाइन सॉफ्टवेयर को अपने डेस्कटॉप पर डाउनलोड कर सकते हैं।

मुफ्त कुंडली सॉफ्टवेयर का उपयोग करने के लाभ

मुफ्त कुंडली सॉफ्टवेयर विभिन्न सुविधाएँ प्रदान करता है जैसे -


ये सभी सुविधाएं सिर्फ एक क्लिक दूर हैं!

  Download For Windows
shadow

गौरी पंचांग

आज का पंचांग, गौरी नल्ला नेरम एवं आज का तमिल कैलेंडर

जब हम पंचांग देखने के लिऐ तमिल कैलेंडर पर विचार करते हैं तो गौरी पंचांग देखते हैं। गौरी पंचांग एक तमिल कैलेंडर है जिसमें हम शुभ एवं अशुभ समय देख सकते हैं। मुख्य रूप से गौरी पंचांग को दो भागों में देखा जाता है, दिन का गौरी पंचांग एवं रात का गौरी पंचांग । सूर्योदय से सूर्यास्त के बीच के समय को दिन का गौरी पंचांग एवं सूर्यास्त से अगले सूर्योदय तक के समय को रात का गौरी पंचांग माना जाता है।

गौरी पंचांग शुभ एवं अशुभ दोनो तरह के होते हैं। अर्मिधा, उथी, लाभम, सुगम एवं धनम पांच शुभ गौरी पंचांग हैं तथा विषम, रोगम एवं सोगम अशुभ गौरी पंचांग हैं।

hindi
english